पीएम किसान FPO योजना 2021: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन फॉर्म

पीएम किसान FPO योजना 2021 केंद्र सरकार हर हाल में किसानों के भविष्य को उज्जवल करना चाहती है अपने इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए पीएम किसान FPO योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत किसानों को उत्पादन बढ़ाने के लिए प्रोत्साहन दिया जाएगा जिसके जरिए उनकी आय में वृद्धि हो सके। इस योजना के तहत किसानों के विशेष ग्रुप को सरकार की तरफ से आर्थिक सहयोग मिलेंगे। योजना का नाम किसान FPO योजना है। यहां पर एफ पी यू का फुल फॉर्म फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन अर्थात किसान उत्पादक संगठन हैं। इसका फायदा लेने के लिए कम से कम 11 किसानों को संगठित होकर अपनी कृषि कंपनी या संगठन बनाना होगा। योजना के अंतर्गत इस संगठन को प्रति संगठन केंद्र सरकार की तरफ से उत्पादन के लिए 15-15 लाख रुपए की सहायता की जाएगी। तो आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से पीएम किसान FPO योजना 2021 से जुडी सभी आवश्यक जानकारी जैसे कि pm kisan fpo yojana registration, आवेदन प्रर्किया, पात्रता, दस्तावेज़ आदि देने जा रहे है इसलिए अंत तक हमारे इस आर्टिकल को जरूर पढ़े।

FPO क्या होता है ?

FPO का मतलब किसान उत्पादक संगठनो यानी किसानो का एक ऐसा समूह/जूथ जो किसानों के हित में कार्य करता है और जो कंपनी एक्ट के अंतर्गत रेजिस्टर्ड होता है और कृषि उत्पादकों को आगे बढ़ाता है उन्हें FPO कहते है। केंद्र सरकार के अंतर्गत इन सारे संगठन/समूहों को 15-15 लाख रुपये की धनराशि वित्तीय सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। देश के किसानों के इन संगठनों को वही फायदे मिलेंगे जो किसी कंपनी को मिलते हैं। इस PM Kisan FPO Yojana 2021 के द्वारा देश में 10,000 नए किसानो का उत्पादक संगठन बनेगे जो कंपनी एक्ट के अंतर्गत रेजिस्ट्रेड होंगे। यह एक आर्थिक सहयोग योजना हैं जिसके तहत किसानों के समुह को केंद्र सरकार के द्वारा 3 साल में 15 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जायेगी ताकि वे अपने उत्पादन को बढ़ा सके, रोजगार दे सके, बिचौलियों से बच सके, और उन्हें उत्पादन की बिक्री के लिए उचित मार्केट मिल सके|

पीएम किसान FPO योजना 2021: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन फॉर्म | सरकारी योजनाएँ

ये भी पढ़े👉 किसान क्रेडिट कार्ड योजना 2021

Pradhanmantri Kisan FPO Yojana 2021 Highlights

योजना का नाम पीएम किसान FPO योजना
फुल फॉर्म फार्मरप्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन अर्थात किसान उत्पादक संगठन
किसके द्वारा शुरू की गई केंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थी किसान
उद्देश्य आर्थिक सहायता प्रदान करना
विभाग एग्रीकल्चर

पीएम किसान एफपीओ योजना बनी किसानो की आय

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने पांच राज्यों में मधुमक्खी पाकल को स्थापित करने की घोषणा की है | यह घोषणा केंद्र सरकार की पीएम किसान एफपीओ योजना में की गई है | जिसके तहत सरकार द्वारा 10,000 एफपीओ बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है | 26 नवंबर 2020 को 5 जिलों में एफपीओ की शुरुआत की गई है | यह 5 जिले मध्य प्रदेश का मुरैना, पश्चिम बंगाल का सुंदरवन, राजस्थान का भरतपुर, बिहार का पूर्वी चंपारण, और उत्तर प्रदेश का मथुरा जिले का नाफेड है |

  • इस योजना के जरीये से भारत को शहद उत्पादन में आगे बढ़ाना है | इन 5 जिलों के FPO 4 से 5 हजार शहद उत्पादकों को लाभ पहुंचेगा और 60,000 क्विंटल शहद उत्पन्न होगा | जो की नफेड की मदद से उपभोक्ताओं तक पहुंचाया जायेगा | एसपीओ के सभी सदस्य संगठन अपनी गतिविधियों का प्रबंधन खुद कर सकेंगे | जिसकी मदद से बाजार तक बेहतर पहुंच बन सके |
  • इस योजना के जरीये से किसानो को लाभ पहुंचेगा और उनकी आय में भी बढ़ोतरी होगी | पीएम किसान एफपीओ योजना के लिए सरकार द्वारा 500 करोड़ रूपये का लक्ष्य आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत निर्धारित किया गया है | किसानो की आय दोगुनी करने में एफपीओ का एक बहुत ही बड़ा महत्वपूर्ण योगदान रहेगा |

PM Kisan FPO Yojana 2021

इस योजना के अंतर्गत अगर समूह मैदानी क्षेत्र में काम करता है तो उसमें कम से कम 300 किसान जुड़े होने चाहिए। इसी तरह यह संगठन पहाड़ी क्षेत्र में काम करता है तो 100 किसानो को इसमें जुड़े होने चाहिए। तभी वह इस योजना का लाभ उठा सकते है। इस PM Kisan FPO Yojana 2021 का लाभ उठाने के लिए देश के किसानो को इस योजना के तहत आवेदन करना होगा। इस योजना के अंतर्गत देश के किसान अन्य प्रकार के भी लाभ होंगे जैसे बने संगठनों से जुड़े किसानों को अपनी उपज के लिए बाजार मिलेगा। साथ ही उनके लिए खाद, बीज, दवाई और कृषि उपकरण जैसा जरूरी सामान खरीदना बेहद आसान होगा। एक और बड़ा फायदा होगा कि किसान बिचौलियों से मुक्ति हो जाएंगे। एफपीओ सिस्टम में किसानों को अपनी फसल के लिए अच्छी उपज का भाव मिलेगा।

पीएम किसान एफपीओ योजना 2021 का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है देश के किसान है जिनकी आर्थिक स्थिति सही नहीं है खेती करने से उन्हें ज्यादा फायदा नहीं मिल रहा है इन किसानो को आर्थिक राहत पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने इस पीएम किसान एफपीओ योजना 2021 को शुरू की गयी है इस योजना के ज़रिये किसान उत्पादक संगठनों यानी FPO को केंद्र सरकार के अंतर्गत 15 -15 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान करना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य कृषि सेक्टर को आगे बढ़ाना है। इस योजना के ज़रिये किसानो की आय में वृद्धि करना और किसानो के हित में कार्य करना। इस Pradhanmantri Kisan FPO Scheme 2021 के ज़रिये देश के किसानो को उसी तरह फायदा होगा जैसे कारोबार में होता है।

किसान एफपीओ योजना की विशेषताएं

  • केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी ने बताया कि मोदी सरकार 10,000 नए किसान उत्पादक संगठन बनाएगी।
  • इसमें वही सारे फायदे मिलेंगे जो एक कंपनी को मिलते हैं | इससे कुल 30 लाख किसान लाभ ले सकेंगे।
  • साल 2024 तक इस पर 6865 करोड़ रुपये खर्च होंगे। सरकार हर FPO किसानो को 5 साल के लिए सरकारी समर्थन दिया जायेगा।
  • इस योजना के तहत देश के किसानों को दी जाने वाली धनराशि नकद दी जाएगी। इस योजना में छोटे और सीमांत किसानों के समूह बनेंगे, जिसके जरिये से उन्हें लाभ मिलेगा।
  • केंन्द्र सरकार संगठन के काम को देखने के बाद 15 लाख रुपए की सहायता देगी। इस सहायता की पूरी राशि तीन वर्षों में मिलेगी।
  • देश में कृषि का विस्तार होगा और किसानों के आर्थिक हालात भी बेहतर होंगे।
  • इस योजना का उदेश्य किसी उद्योग के बराबर ही खेती से मुनाफा हासिल करना है।

ये भी पढ़े👉 निक्षय पोषण योजना 2021

पीएम किसान FPO योजना 2021 के लाभ

  • इस योजना का लाभ देश के किसानो को प्रदान किया जायेगा।
  • इस योजना के तहत किसानों को अपना एक ग्रुप बनाना होगा। इस ग्रुप के तहत छोटे एवं सीमांत सभी तरह के किसान मिलकर भाग ले सकते हैं देश के किसान अन्य प्रकार के भी फायदे होंगे जैसे की बने संगठनों से जुड़े किसानों को अपनी उपज के लिए बाजार मिलेगा।
  • साथ ही में संगठन से जुड़ने के कारण उन्हें खाद बीज दवाइयां कृषि उपकरण आदि की भी प्राप्त करने में आसानी होगी।
  • इस योजना के तहत देश किसान उत्पादक संगठनो को केंद्र सरकार के के द्वारा 15 लाख रूपये की धनराशी वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी सरकार द्वारा यह धनराशि तीन साल के भीतर प्रदान की जाएगी।
  • पीएम किसान FPO योजना 2021 के अंतर्गत अगर संगठन मैदानी क्षेत्र में काम करता है तो उसमें कम से कम 300 किसान जुड़े होने चाहिए। इसी तरह यह संगठन पहाड़ी क्षेत्र में काम करता है तो 100 किसानो को इससे जुड़े होने चाहिए। तभी वह इस योजना का लाभ उठा सकते है।
  • देश के जो भी इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा।

पीएम किसान FPO योजना 2021 में आवेदन कैसे करे ?

देश के जो भी इच्छुक लाभार्थी इस पीएम किसान FPO योजना 2021 के तहत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा। क्योकि अभी इस योजना को हाल ही में शुरू किया गया है अभी इस pm kisan fpo yojana registration के तहत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सरकार के द्वारा कोई अधिकारी सूचना जारी नहीं कि गई है। योजना के तहत जुड़े किसानों को अपने उत्पादन के लिए सही बाजार बहुत आसानी से मिलेगा जिसकी वजह से वे बिचौलियों के जाल में फंसने से बच जाएंगे और अपनी मेहनत का पैसा सीधे हासिल करने योग्य होंगे साथ ही इन बाजारों में किसानों को उनकी फसलों का अच्छा दाम भी मिलेगा | जैसे ही इस पीएम किसान एफपीओ योजना 2021 के तहत केन्द्र सरकार के द्वारा ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवेदन प्रक्रिया को आरंभ कर दिया जायेगा हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बता देंगे जिसके बाद देश के किसान भाई इस योजना के तहत आसानी से आवेदन कर सकते है। और केंद्र सरकार द्वारा लाभ प्राप्त कर सकते है।

 

PM Kisan FPO Yojana Apply | पीएम किसान एफपीओ योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | पीएम किसान FPO योजना एप्लीकेशन फॉर्म | PM Kisan FPO Yojana In Hindi | पीएम किसान FPO योजना 2021 | pm kisan fpo yojana registration | pm kisan fpo yojana online apply | किसान उत्पादक संगठन कैसे बनाएं | किसान उत्पादक संगठन पंजीकरण की प्रक्रिया

7 thoughts on “पीएम किसान FPO योजना 2021: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन फॉर्म”

  1. रौनक जी क्या आपके पोर्टल पर मेरी फसल मेरा ब्यौरा के बारे में जानकारी है ?

    Reply

Leave a Comment